पहली मुलाक़ात


Nitish Bakshi Posted: January 08 ,2014

हाथों में हाथ,

बहके जज़्बात !

बैठे हैं वो,

अब साथ-साथ !!

गज़ब के हैं,

दिल के हालात !

न सूझे है दिन,

न दिखती है रात !!

ख़त्म हुई चुप्पी,

चल पड़ी बात !

शायद होती है ऐसी ही,

इश्क़ की पहली मुलाक़ात !! 





Related Stories

Designed By: Web Solution Centre