अक्स


Nitish Bakshi Posted: January 08 ,2014

पानी में पड़ती सिलवटें,

करतीं हैं बयाँ कहानी कोई !

तेरी हँसी का अक्स, शायद,

यादों में ताज़ा हो आया है !! 





Related Stories

Designed By: Web Solution Centre